SHARE
Tone Totke astrology online astrological remedies tantrik remedies shabar mantra shabar tantra easy remedies easy money trick remedies for job family power

धन के लिए 10 टोटके

धन के लिए 10 टोटके : जब हम लय में होते हैं, तो हमारे हर कार्य में संयोग सहज रूप से साथ देते हैं। एक होता है योग और दूसरा होता है संयोग। अगर किसी जातक की कुण्‍डली में धनवान बनने के योग हैं तो वह स्‍वत: ही धनवान बनेगा, लेकिन अगर किसी जातक की कुण्‍डली में धनवान बनने के योग नहीं है, तो उसे धन के संयोगों पर निर्भर रहना पड़ेगा।

ज्‍योतिष या तंत्र में कहीं भी उल्‍लेख नहीं है कि जातक के पास धन की कितनी मात्रा होगी। एक दस हजार रुपए महीना कमाने वाला जातक धन के मामले में सुखी हो सकता है और एक करोड़ों का व्‍यवसाय करने वाला धनपति धन के मामले में चिंतित हो सकता है। जातक धन के मामले में चिंतित रहे या निश्चिंत, लेकिन इतना जरूरी है कि आवश्‍यकता जितना धन हर जातक के पास होना चाहिए। कालांतर में हमारे तंत्र साहित्‍य और लोक समझ ने ऐसी युक्तियां निकाली हैं, जो लय बिगड़े जातक को धन के मामले में एक बार फिर से गाड़ी को पटरी पर बैठाने में मदद कर सके। यहां लक्ष्‍मी हासिल करने और लक्ष्‍मी को स्थिर करने के ऐसे उपायों की सीरीज प्रस्‍तुत की जा रही है।


  1. घर में कमाई तो बहुत है, किन्तु पैसा नहीं टिकता, तो यह प्रयोग करें। जब आटा पिसवाने जाते हैं तो उससे पहले थोड़े से गेंहू में 11 पत्ते तुलसी तथा 2 दाने केसर के डाल कर मिला लें तथा अब इसको बाकी गेंहू में मिला कर पिसवा लें। यह क्रिया सोमवार और शनिवार को करें।
  2. अगर पर्याप्त धर्नाजन के पश्चात् भी धन संचय नहीं हो रहा हो, तो काले कुत्ते को प्रत्येक शनिवार को कड़वे तेल (सरसों के तेल) से चुपड़ी रोटी खिलाएं।
  3. रात्रि में चावल, दही और सत्तू का सेवन करने से लक्ष्मी का निरादर होता है। अत: समृद्धि चाहने वालों को तथा जिन व्यक्तियों को आर्थिक कष्ट रहते हों, उन्हें इनका सेवन रात्रि भोज में नहीं करना चाहिए।
  4. अचानक धन प्राप्ति का उपाय :- गुलाब के फूल में कपूर का टुकड़ा रखें। शाम के समय फूल में एक कपूर जला दें और फूल को देवी को चढ़ा दें। इससे आपको अचानक धन मिल सकता है।
  5. एक और आसान उपाय है पान में गुलाब की सात पंखुड़ियां रखकर, पान को देवी को चढ़ा दें। आपको धन की प्राप्ति होगी।
  6. नवरात्र की षष्ठी तिथि को शाम के समय बेल के पेड़ के जड़ पर मिट्टी, इत्र, पत्थर और दही चढ़ा दें और अगले दिन सुबह के समय बेल के पेड़ से एक छोटी टहनी तोड़ कर घर ले आयें और उसे अपनी तिजोरी में रख दें। ऐसा करने से आपको बेहिसाब धन – संपदा प्राप्त होगी।
  7. धन में बरकत : तिजोरी का दरवाज़ा उत्तर की तरफ हो तो पैसों की बरकत होगी । दुकान में cash-box अगर उत्तर दिशा में खुलता हुआ हो तो उत्तर दिशा के मालिक कुबेर भंडारी की नजर पड़ने से धन की बरकत रहती है ।
  8. धन हानि हो रही हो तों वीरवार को घर के मुख्य द्वार पर गुलाल छिड़क कर गुलाल पर शुद्ध घी का दोमुखी (दो मुख वाला) दीपक जलाना चाहिए। दीपक जलाते समय मन ही मन यह कामना करनी चाहिए की “भविष्य में घर में धन हानि का सामना न करना पड़े।” जब दीपक शांत हो जाए तो उसे बहते हुए पानी में बहा देना चाहिए।
  9. घर की आर्थिक स्थिति ठीक करने के लिए घर में सोने का चौरस सिक्का रखें। कुत्ते को दूध दें। अपने कमरे में मोर का पंख रखें।
  10. लक्ष्मी प्राप्ति का उपाय :-

  • पान में गुलाब की सात पंखुड़िया रखें और पान को देवी को चढ़ा दें …..आप को धन की प्राप्ति होगी।
  • गुलाब की फूल में कपूर का टुकड़ा रखें ….शाम के समय फूल में एक कपूर जला दें …और फूल देवी को चढ़ा दें ….इससे आपको अचानक धन मिल सकता है।
  • चौदह मुखी रुद्राक्ष सोने में जड़वा कर ….किसी पत्र में लाल फूल बिछाकर उस पर रखें …दूध, दही, घी ,मधु, और गंगाजल से स्नान करायें …. धूप दीप से पूजा करके धारण करें।
  • इमली के पेड़ की डाल काट कर घर में रखें या धन रखने की स्थान पर रखें तो धन की वृद्धि होगी।
  • एक नारियल और उसके साथ एक लाल फूल, एक पीला, एक नीला फूल और सफ़ेद फूल माँ को चढ़ायें…नवमी के दिन ये फूल नदी में बहा दें और नारियल को लाल कपड़े में लपेट कर तिजोरी में रखें …अखंड लक्षी की प्राप्ति होगी।
  • धन प्राप्ति में किसी भी तरह की मुश्किल से बचने के लिये लौंग और कपूर में गन्ने का रस मिलकर माँ दुर्गा को आहुति दें।
  • पान में गुलाब की पंखुड़िया रखकर पान देवी को चढायें।

डिस्‍क्‍लेमर : कुछेक प्रयोग लेखक द्वारा किए गए हो सकते हैं, लेकिन अधिकांश प्रयोग या तो लोक मानस में बसे हुए प्रयोग हैं तो कुछ प्रयोग तंत्र साहित्‍य की पुस्‍तकों से भी लिए गए हैं। समय समय पर इन प्रयोगों ने जातकों को धन की समस्‍या से मुक्‍त होने में मदद की है। आप भी इन सरल प्रयोगों को अपने स्‍तर पर कर सकते हैं, लेकिन लेखक किसी भी प्रयोग को लेकर किसी प्रकार का दावा नहीं करता है। आप जो भी प्रयोग करें, अपने स्‍तर पर अपने निर्णय से करें।