Author: Astrologer Sidharth

भगवान श्रीकृष्‍ण की कुण्‍डली का विश्‍लेषण

भगवान श्रीकृष्‍ण की कुण्‍डली का विश्‍लेषण Analysis of horoscope of Lord Krishna सनातन मान्‍यता में विष्‍णु के दो अवतार ऐसे हुए हैं जिनकी कुण्‍डली भी उपलब्‍ध है। ज्‍योतिष शास्‍त्र में ऐसा माना जाता है कि ज्‍योतिष के विद्यार्थी को अपने अध्‍ययन में गहराई लाने के लिए इन दोनों अवतारों की कुण्‍डलियों का विश्‍लेषण जरूर करना चाहिए। चूंकि दोनों अवतारों की जीवनी और कुण्‍डली उपलब्‍ध है, तो बहुत से भेद इन कुण्‍डलियों से हमें हासिल हो जाते हैं। Analysis of horoscope of Lord Krishna भगवान श्रीराम की कर्क लग्‍न की कुण्‍डली में जहां बुध के अलावा सभी ग्रहों को उच्‍च का...

Read More

What to Expect and What to Avoid From an Online Astrology Reading

Image source: Pixabay Live astrology sessions, particularly those that are done via the Internet can be both eye-opening and intriguing because of the tons of benefits that they can bring. On one hand, astrology is known for being a language of symbols, it can show your life purpose, help you when making important decisions, and so on. On the other hand, they (the symbols) are abstract and this is why it is intriguing, especially if it is your first time to have it. So, if you are seriously thinking of having an appointment with a reputable astrology reader, but...

Read More

विग्रह और उसके आयाम : विशिष्‍ट होती हैं देवी देवताओं की मूर्ति और प्रतिमा

विग्रह और उसके आयाम : विशिष्‍ट होती हैं देवी देवताओं की मूर्तियां और प्रतिमाएं अपनी बात शुरू करने से पहले मूर्ति और प्रतिमा में अंतर करना होगा। प्रतिमा हम उसे कहेंगे जो स्‍मृति के अनुसार हमें जिस किसी संरचना का आभास अथवा अनुमान होता है, उसे प्रकट करने के लिए प्रतिमा बनाई जाती है। प्रतिमा की प्रकृति अस्‍थाई होती है। प्रतिमा में कभी पूर्णता नहीं होती। जैसे किसी महापुरुष की प्रतिमा बनाई जाए, किसी प्राकृतिक दृश्‍य को उकेरा जाए, इन प्रतिमाओं में स्‍मृति के आधार पर जितने अवयव होते हैं सभी शामिल करने का प्रयास किया जाता है, इसके...

Read More

भाग्‍यशाली पुरुषों के लक्षण Physical character of A Lucky Man -1

भाग्‍यशाली पुरुषों के लक्षण Physical character of A Lucky Man – 1 कोई पुरुष कितना भाग्‍यशाली (LUCKY) होगा यह उसके अंग लक्षण (BODY) और शारीरिक संकेत (Physical Character) देखकर ज्ञात किया जा सकता है। किसी भी पुरुष जातक की अंगुलात्‍मक ऊंचाई, शरीर का वजन, चलने का अंदाज, संहति, सार, वर्ण, स्‍नेह यानी स्निग्‍धता, स्‍वर यानी शब्‍द, प्रकृति, सत्‍व, अनूक, क्षेत्र, मृजा यानी  पंचमहाभूतमयी शरीर छाया को जानकर किसी पुरुष के भाग्‍यशाली होने के लक्षण पता किए जाते हैं। वृहत्‍संहिता में पुरुषों और स्त्रियों के शुभ एवं अशुभ लक्षण दिए गए हैं। इस लेख में मैं चर्चा करूंगा पुरुषों के...

Read More

Lucky Dress भाग्‍यशाली परिधान

Lucky Dress भाग्‍यशाली परिधान क्‍या किसी जातक को उसके परिधान (Dress) उसे भाग्‍यशाली (Lucky) बना सकते हैं, इसका स्‍पष्‍ट जवाब हैं, हां। ज्‍योतिष में न केवल परिधान पहनने के लिए मुहूर्त का प्रावधान है बल्कि परिधान के प्रकार और रंगों के आधार पर भाग्‍य को उन्‍नत बनाने के उपाय भी दिए गए हैं। लोक व्‍यवहार में भी कहा जाता है बुध पहने बागा कदैई न रैवे नागा यानी बुधवार को जो नए वस्‍त्र धारण करता है उसे कभी परिधान की कमी नहीं रहती। विलासी परिधान पहनने के लिए तो शुक्रवार को विशेष दिन माना जाता है। अलग अलग क्षेत्रों...

Read More