अब प्रेम कोई राशि पूछकर तो होता नहीं, बस हो जाता है। सो अगर प्रेम हो चुका है तो उसे निबाहने के लिए आपको यह पता होना चाहिए कि आपके प्रेमी अथवा प्रेयसी की क्‍या खासियत है और क्‍या कमियां हैं।

अगर आप इसे ध्‍यान में रखेंगे तो निबाह करना आसान हो जाएगा। रोजाना छोटी छोटी बातों में झगड़ते रहने से अच्‍छा है कि हम यह ध्‍यान रखें कि जिसे हम प्रेम करते हैं, वह उतना ही सुखी हो, जितना सुख हम चाहते हैं।

एक सजीले युवक और एक सुंदर युवती के बीच प्रेम के लिए कई महत्‍वपूर्ण आयाम होते हैं। पहले सजीले युवक और सुंदर युवती को समझ लेते हैं। जो युवक एक युवती को अपने सपनों के राजकुमार की तरह महसूस होता है, वही वास्‍तव में उस युवती के लिए सजीला युवक होता है। भले ही उस युवक को पूरी दुनिया कुरूप माने, लेकिन युवती के लिए वही सबसे सजीला होता है, वही उसे प्रेम की उस अनुभूति तक ले जाने में सक्षम हो पाता है, जिसकी वह युवती उम्‍मीद कर रही होती। दूसरी ओर सुंदर युवती वह युवती है, जिसे देखने के बाद युवक दूसरी युवतियों की ओर देखना बंद कर देता है। भले ही साधारण नैन नक्‍श और सामान्‍य रूप रंग की क्‍यों न हो, उस युवक के लिए वही युवती संसार की सबसे खूबसूरत युवती होती है। आप ऐसे जोड़ों को कहीं भी और कभी भी देख सकते हैं।

हमेशा ऐसे मैच मिल ही जाए, यह जरूरी नहीं। कई बार बहुत प्रतिभाशाली और बहुत आकर्षक युवक भी उस प्रेम को नहीं पाते हैं, जिसे दूर से देखकर ही युवतियां आहें भरती हों, लेकिन अपनी निजी जिंदगी में ऐसे युवकों को नितांत अकेले तक देखा जा सकता है। बेहद सुंदर युवतियां, जो कई बार सुंदरता की प्रतियोगिताएं भी जीत चुकी हों, अपने प्रति समर्पित उस सपनों के राजकुमार का इंतजार करते करते आखिर एक दिन समझौता करते हुए विवाह कर लेती है।

यह सही है कि हर किसी को वह प्रेम नहीं मिल पाता है। हम ज्‍योतिषीय योगों में भी देखते हैं कि एक युवती की कुण्‍डली में प्रेम विवाह का योग दिखाई देता है, लेकिन युवती जिस युवक को पसंद करती है, उसकी कुण्‍डली में प्रेम विवाह नहीं होता। ऐसे में मेल नहीं हो पाता है। किसी सजीले युवक के लिए किसी युवती के मामले में भी ऐसा हो सकता है। प्रेम के इतर बिना कारण की घृणा भी ज्‍योतिषीय कोण से महत्‍वपूर्ण बिंदू है। किसी की शक्‍ल सूरत देखकर आप पास जाएं, लेकिन सामने वाला आपको देखकर पहली ही नजर में आपसे दूर होने की कोशिश करने लगे, तो समझिए कि आपका ऑरा आपके प्रिय से मेल नहीं खाता। ऐसे में तनाव बढ़ाने के बजाय समझदारी से दूर हो जाना बेहतर है। प्रेमियों के स्‍वभाव, खासियत और कमियों पर हमारे पैनल की ज्‍योतिषी चंद्रप्रभा का विशेष आलेख…

मेष राशि के उतावले जातक (Desperate aries)

मेष राशि का स्वामी मंगल (Mars) है। मंगल को सभी ग्रहों में सबसे अधिक ऊर्जावान माना गया है। मेष राशि और मंगल ग्रह दोनों ही अग्नितत्व ग्रह हैं। अग्नितत्व होने से इनमें ऊर्जा अधिक होने के साथ थोडा उतावलापन भी रहता है और हर काम को करने की जल्दबाजी भी बहुत रहती है।

आपको ये तुनककर जवाब देते हुए मिलेंगे। ये बहुत ही शीघ्रता से प्रेम संबंध बनाने को तैयार हो जाते हैं और अच्‍छी बात यह है कि अपने प्रेमी के प्रति वफ़ादार रहते हैं। इनका एक नकारात्मक पहलू यह भी है कि ये अपने प्रेमी या प्रेयसी पर अपना पूर्ण अधिकार समझते हैं और इसी चक्कर में कई बार नाइंसाफ़ी तक पर उतर आते हैं।

यदि आपका प्रेमी मेष राशि का है, तो इनके स्‍वभाव को ध्‍यान में रखना चाहिए और कोशिश यही करनी चाहिए कि आप उनके मूड को देखकर ही कोई प्लान बनाएं या आप एक दिन पहले से ही प्रेमी का मन जांचने का प्रयास करें ताकि मूड खराब होने पर आप उसे अनुकूल बनाने का आपको मौका मिल सके।

वृष राशि वाले रसिक शिरोमणी (Eager to be loved taurus)

वृष राशि के नाम के अनुरुप ही इसके गुण भी देखे गए हैं। इस राशि का चिन्ह बैल है और यह स्थिर राशि है। बैल एक बार जहां जम जाते हैं तो आसानी से उन्हें कोई हिला नहीं पाता। स्थिर स्वभाव के कारण ये जल्दी से बदलाव की इच्छा नहीं रखते। आपका प्रेमी वृष राशि का है तो आपको उसके स्थिर स्वभाव का ख्याल अवश्य ही अपने जेहन में रखना होगा ।

वृष का स्‍वामी शुक्र है और प्रेम संबंधों में शुक्र जातक में रसिकता का भाव प्रदान करता है। आपके वृषभ प्रेमी की एक खासियत यह भी है कि उनके जीवन में स्पर्श का काफ़ी महत्व है और आप जब भी प्यार से उन्हें छूने का प्रयास करेगें तो वह खुद ब खुद प्रेम सागर में गोते लगाना आरंभ कर देगें।

आप अपने इस प्रिय को खास बनाना चाहते हैं तो उनका मन एक.दिन पहले से ही जीत लेना चाहिए। अपने प्यार भरे स्पर्श से आप उन्हें मोहित कर सकते हैं।

समर्पित और बुद्धिमान मिथुन राशि (Dedicated-intelligent gemini)

आपका प्रिय यदि मिथुन राशि का है तब आपको कई बातों का ध्यान रखकर चलना होगा। मिथुन राशि का स्वामी बुध है जिसे ग्रहों में राजकुमार की उपाधि दी गई है। इसकी अपनी एक अलग ही शान होगी। बुध को बुद्धि का कारक भी माना गया है जिससे व्यक्ति की तर्क शक्ति भी अच्छी मानी जाती है।

आपका प्रेमी वाचाल है और उसे अपनी ही बात को सर्वोपरि रखने की आदत है। दिल का साफ़ और दिया वचन निभाने वाला होगा। इनकी एक कमी यह होगी कि इस राशि के द्विस्वभाव होने से इनमें दोहरा व्यक्तित्व होता है।

अपने दोनों ही रुपों को यह बखूबी निभाते हैं। दोनों के साथ पूरी ईमानदारी भी बरतते हैं, लेकिन कई बार बुध कुण्‍डली में कमजोर हो तो आत्मविश्वास की कमी इन्‍हें पीछे धकेल देती है।

परिस्थितियों को अनुसार ढलने की क्षमता वाले मिथुन जातक आप जैसा चाहेगें वैसा आपके अनुसार यह खुद को ढाल लेगें लेकिन यदि आपकी कोई बात इन्हें बुरी लगी तब आपको पता भी नहीं चलेगा कि कब यह आपसे दूर हो जाएंगे। इसलिए आप अपने प्रिय की भावनाओं को किसी भी तरह से आहत ना करें।

जितना हो सके उतना अधिक इनसे प्यार भरी बाते करें जिससे यह पूरी तरह से आपके साथ बने रहेगें। ये फ़्लर्ट में भी माहिर माने गए हैं, लेकिन आपको दुखी नहीं होना चाहिए क्योंकि आप इनके प्रति जब तक वफ़ादार रहेगें तब यह भी पूरी वफ़ादारी आपके प्रति बरतेगें।

आसानी से ढल जाने वाली कर्क राशि (Easily mouldable cancer)

आपका प्रिय यदि कर्क राशि का है तो इसमें भावुकता अत्यधिक देखी जा सकती है। इस राशि में जल का समावेश माना गया है। इनका स्वभाव भी बहुत लचीला हो सकता है क्योंकि जल का अपना कोई आकार नहीं होता है। उसे जिस बर्तन में डाला जाए उसी का आकार ले लेता है।

भचक्र की सभी बारह राशियों में से एक यही राशि ऐसी है जिनके भीतर झांक पाना बहुत मुश्किल है क्योंकि इनके हर काम में भावनाएं सर्वोपरि होंगी। कब कौन सी बात इनके मन को छू जाए कहना मुश्किल है।

आपको इनके व्यवहार को बारीकी से जांचना होगा तभी आपके प्यार की पींगे ज्यादा फल-फूल पाएंगी । यदि आप प्रेमी की हर बात पर सहानुभूति जताते हैं तब यह आपके प्रति पूरी निष्ठा रखेगें।

यदि आपका प्रेम संबंध कर्क राशि वाले व्यक्ति से स्थापित हो गए हैं तब आपको इनके मुंह से एक जुमला अकसर सुनाई देगा ष्मुझे लगता है या मुझे महसूस होता है। वह इसलिए कि भावनाओं को आगे रखकर काम करते हैं। यदि आपके विचार ज्यादा से ज्यादा प्रेमी से मेल खाते हैं तो यह आपके मजबूत प्रेम संबंधो का आधार बन सकते हैं।

अन्यथा ये पीछे भी हट सकता है। यदि आप लंबे समय तक प्रेम संबंधों को चलाए रखना चाहते हैं तब आपको प्रेमी के विचारों से सहमत होना होगा।

आकर्षण का केन्‍द्र सिंह राशि (At the center of a party there will be LEO)

नाम से ही स्पष्ट है कि व्यक्ति में सिंह वाले गुण भी मौजूद होगें। आकर्षक व्यक्तित्व होने से आपका प्रेमी किसी भी समारोह में क्‍यों ना हो, पार्टी के आकर्षण का केन्द्र बन ही जाता है। सिंह राशि का स्वामी सूर्य तो चिन्ह शेर का होने से इनका रौबीला व्यवहार होता है और दूसरे को दबाने की इनकी प्रवृति भी होती है।

अपनी बात को ऊपर रखना इनकी आदत है। स्वभाव में उग्रता भी देखी जा सकती है लेकिन प्रेमी के प्रति भावुक व ईमानदार होंगे। आप इनके कठोर व्यवहार को बर्दाश्त कर सकते हैं तो ही इनसे प्रेम संबंध आगे बढाने चाहिए। इनकी एक कमी यह है कि जिनसे यह शारीरिक संबंध बनाते हैं तो यह आवश्यक नहीं कि प्रेमी भी उसी को ही माने क्योंकि इन्हें प्रेम और सेक्स (Love & Sex) इन दोनों में विभाजन करना बखूबी आता है।

यदि इन्हें प्यार हो गया तब यह दिल की गहराईयों से प्रेम करते हैं। ऐसे व्यक्ति को प्रेमी के रुप में देखना चाहते हैं, जो इन्हें स्वतंत्रता प्रदान करें और किसी तरह का अंकुश ना लगाए। यदि आप इनकी कमियों के साथ इन्हें अपनाते हैं तो इनके जैसा प्रेमी मिलना मुश्किल होगा। आप इनकी बातों में टोका-टोकी कम करें।

यदि कोई बात मनवानी भी है तब इनके मूड को ध्यान में रखते हुए अपनी बात कहें। नरमी और दुलार से इनके साथ पेश आएं ताकि हर दिन प्रेम का लुत्फ़ आप उठा सकें।

प्रेमी के लिए चुनौती : कन्या राशि (Challenge to the lover : A virgo)

कन्या राशि के बारे में कहा गया है कि यह पहली राशि है जिसमें मानव का चित्र दिखाया गया है। यह पृथ्वीतत्व होने से सहनशील होते हैं लेकिन द्विस्वभाव राशि होने से कई बार इन्हें दुविधा में भी रहते है कि क्या करें और क्या ना करें।

इनकी खासियत यह है कि छोटी से छोटी बात को भी गंभीरता से लेते हैं और विस्तार से उस पर बातचीत करते हैं। ये हवाबाज नहीं होतें और जीवन के धरातल पर रहकर ही आगे बढते हैं। इनकी हर बात का एक ठोस आधार होता है। यदि आपका प्रेमी कन्या राशि का है तब यह आपसे अपेक्षा करेगा कि उसे आपके प्यार व सहारे की जरुरत है।

आपका यह प्रेमी अपने प्यार को कमरे से बाहर ले जाना पसंद करेगा। रोमांस करना इसे पसंद होगा। उसे प्रेम के कसीदे पढ़ने नहीं आते, फ़िर भी इजहार का तरीका जरूर विशिष्‍ट होगा । यह कम शब्दों में अधिक बात कह कर अपने प्रेम का इजहार कर सकते हैं। आपका प्रेमी अपनी

आवश्यकतानुसार अपने प्रेमी का चयन करता है, ऐसे में उनकी कसौटी पर खरा उतरना एक परीक्षा से कम नहीं है। यदि आप खरे उतर गए तब आपका प्रेमी आपको यह अहसास दिलाएगा कि आप उनके जीवन में कितना अधिक महत्व रखते है।

प्रेमी की एक बडी कमी यह हो सकती है कि वह जरा-जरा सी बात को भी गहरी चिन्ता का विषय बना लेते हैं और दूसरों की कमियां निकालना भी उनकी एक आदत हो सकती है।

स्वभाव से शर्मीले होने के कारण अपनी बात को कहने में संकोच करते हैं। आपके प्रेम संबंध यदि कन्या राशि वाले जातक से बन जाते हैं तब उनकी भावनाओं का ख्याल आपको बहुत रखना होगा। तभी प्रेमी जीवन सुचारु रुप से चल पाएगा।

दिल जीतने वाले आदर्श प्रेमी – तुला राशि (Winning harts libras)

तुला राशि वायुतत्व मानी गई है और इसका स्वामी ग्रह शुक्र है। वायुतत्व होने से यह ख्याली पुलाव बहुत बनाते हैं और हर बात को बढ.चढकर करने की इनकी आदत होती है। स्वभाव से तो शांत ही होते हैं, फ़िर भी ये कतई अकेला नहीं रह सकते हैं, भीड़-भाड़ में रहना इन्हें पसंद है। अपने साथी को ये बहुत ही महत्व देते हैं।

यदि आपका प्रिय तुला राशि का है तब आपका इनके जीवन में एक महत्वपूर्ण स्थान होगा। इनका व्यक्तित्व दूसरों का दिल जीतने वाला होता है। ये आपके भीतर भी बहुत सी खूबियां देखना चाहेंगे। इनकी चाहत एक आदर्श प्रेमी की होती है। यह अच्छा तालमेल बिठाने वाले और भावों को प्रेमी तक भली भांति पहुंचाने वाले होते हैं।

इनकी खासियत है कि जब भी यह आपके साथ होगें तब आपको हर प्रकार से संतुष्ट रखने का प्रयास करेगें और मानसिक व शारीरिक रुप दोनों से ही आनंद की प्राप्ति कराना इनका प्रयास रहेगा । यह एक रोमांटिक प्रेमी साबित होने के साथ ही आपकी समस्याओं को सरलता से हल करने वाले भी होते हैं। बस इनकी कमी यही है कि यह अनिर्णय की स्थिति में ज्यादा रहते हैं और सोच-सोच में ही क्या से क्या कर डालते हैं। धरातल पर रहना तो इन्हें आता ही नहीं है।

किसी तरह का टकराव पसंद नहीं करते हैं और कभी-कभी खुद पर तरस भी बहुत खाते हैं। ये बहुत जल्दी उकता जाते है। जीवन में एकरसता इन्हें अच्छी नहीं लगती है। तुला का जातक कुछ उतावला भी रहता है। प्रेमी के प्रति रोमांटिक भी बहुत होता है, बहुत से मामलों में इनके एक से अधिक प्रेम संबंध देखे गए हैं।

क्योंकि यह एकरसता से शीघ्र ऊब जाते हैं। अधिक प्रेम संबंध का यह भी एक कारण होता है। अब आपको इनके साथ प्यार की डोर को आगे बढाना है या नहीं बढाना है, वह आप पर निर्भर होगा।

सावधान रहें वृश्चिक के डंक से (Be aware about scorpion sting)

आपका प्रिय यदि वृश्चिक राशि का है तब तो आपको तीखी प्रतिक्रियाएं झेलने की आदत डाल लेनी चाहिए। इस राशि का प्रतीक चिन्ह बिच्छू है और यह किसी भी बात को बिना पूरा जाने एकदम से पलटकर जवाब देने वाले होते हैं। तुरंत अपनी प्रतिक्रिया प्रकट कर देने वाले होते हैं।

इनकी एक खासियत यह भी है कि बाहर से तो यह कठोर होगें लेकिन इनके सीने में छिपा दिल बेहद कोमल होगा । एक खास बात और कि इनके मन में अगर किसी काम को करने का जुनून सवार हो गया तब यह उसे पूरा कर के ही दल लेगें। चाहे वह प्रेम संबंध ही क्यूं ना हो।

भचक्र की सभी राशियों में सबसे ज्यादा कामुकता भी इसी राशि में पाई गई है। आप यदि बुद्धिमान व ईमानदार हैं तभी यह आपसे प्रेम संबंध स्थापित करने में रुचि रखेगा अन्यथा नहीं रखेगा । जल्दबाजी इसे पसंद नहीं होगी। यहां तक कि शयनकक्ष में संबंध बनाने से पहले यह एक लंबी बातचीत करना पसंद करेगें।

संबंधों में टिकाव चाहेगें। यदि आपके भीतर भी इनके जैसे ही गुण विद्यमान हैं तभी आप प्रेमी के साथ टिक पाएंगे अन्यथा यह संबंध ज्यादा समय तक आगे नहीं बढ पाएंगे। यदि आप इनके अनुरुप होते हैं तब यह मरते दम तक भी आपका साथ निभाएंगे। एक बार विश्वास जमने पर यह सदा साथ निभाते हैं।

प्रेम संबंधों में धोखाधडी इन्हें बिलकुल रास नहीं आती है। आपको चाहिए कि आप खुद इनके अनुरूप ढलने का प्रयास करें तभी प्रेम संबंध ज्यादा चल पाएंगे।

चिपकें नहीं धनु से (Do not try to stuck with saggitarious)

यदि आपके प्रेमी की राशि धनु है तब उसमें आप जल्दबाजी देख सकते हैं। हर काम को जल्दी से निपटाने की कोशिश में यह रहते हैं। चाहे बाद में इन्हें पछताना पडे। इनके भीतर जिज्ञासाओं का भंडार देखा जा सकता है।

हर काम को जानने की कोशिश करते हैं। यह बहुर्मुखी प्रतिभा के धनी भी होते हैं और हर कार्य को दृढता के साथ संपन्न करते हैं। हर समय इनके भीतर जोश देखा जा सकता है। कोई इन्हें इनके विचारों से डिगा नहीं सकता है। द्विस्वभाव राशि होने से इन्हें बदलाव बहुत पसंद है और यह इनके लिए अच्छा भी अन्यथा इनकी ऊर्जा का पूर्ण सदुपयोग नहीं हो पाएगा । संबंधों को लेकर आपके प्रेमी में चंचलता रहती है।

प्रेमी के साथ यह संबंधों का पूरा आनन्‍द भी लेते हैं। अपने भावों को दिखाना भी आपके प्रेमी को बखूबी आता है। इनके साथ प्रेम संबंधों में वही व्यक्ति टिक सकता है जिनकी ऊर्जा इनसे मेल खाती हो। यदि आपको लगता है कि आपकी ऊर्जा भी आपके इस प्रेमी के समान ही है तभी आप प्रेम की नैया को पार लगाएं।

आपके इस प्रेमी में हास्यरस का भाव भी देखा जा सकता है और यह हाजिरजवाब भी बहुत होते हैं। इनकी कमी यह होगी कि असभ्य बातों पर यह जल्दी ही अधीर हो जाते हैं। बात की तह तक जाना इन्हें पसंद नहीं होगा और अपने साथ चिपकने वाले लोग इन्हें कतई पसंद नहीं आएंगे।

प्रेम संबंधों को आप आगे बढाना चाह्ते हैं तब उपरोक्त बातों को भी आपको ध्यान में रखना होगा तभी आप सफ़ल प्रेम संबंध की मंजिल तक पहुंच पाएंगे। आपके प्रेमी के आवेश को झेलने की क्षमता भी आपके भीतर होनी चाहिए। प्रेमी मन से खराब नहीं होगा लेकिन उसका व्यवहार थोडा उग्र होगा।

दिल देने वाली मकर राशि (Gives you heart and purse : capricorn)

मकर राशि की गणना चर राशियों में की जाती है। यदि आपका प्रेमी इस चर राशि का है तब उसे निठल्‍ले रहना पसंद नहीं होगा और सदा ही किसी ना किसी काम में उसे लगा हुआ आप देख सकते हैं।

जीवन के अधिकांश फ़ैसले यह परंपराओं पर आधारित होंगे। यह सदा किसी ना किसी चिन्तन में लगे रहते हैं। प्रेम संबंधों को भी गंभीरता से लेते हैं। प्रेमी की भावनाओं की यह पूरी कद्र करते हैं। अपने कर्मों से ही यह प्रेम का इजहार करते हैं। एक बार प्रेम संबंध होने पर यह एक रात प्रिय के साथ बिताने के लिए खर्चे की परवाह भी नहीं करते हैं।

प्रेमी को उपहारों से लाद देते हैं। आपका यह प्रेमी केवल उसी को प्रेमी के रुप में चुनना पसंद करता है जिसमें थोडा सा हास्यरस भी हो। जिनकी बुद्धि का स्तर भी ऊंचा हों। ईमानदारी व वफ़ादारी भी उसके अन्य गुण होने चाहिए। अपनी भावनाओं को नियंत्रित करना भी आपके इस प्रेमी का गुण है।

इनकी कमी यह होती है कि यह हर बात में यह कह देते हैं कि यह सब जानते हैं। इनके विचारों में नकारात्मक विचारों की अधिकता देखी जा सकती है। यह क्षमा करना नहीं जानते हैं और इनके हर पहलू में कुछ ना कुछ कमी आपको नजर आएगी । यदि आप उपरोक्त बातों का ध्यान रखते हुए आगे बढते हैं तब आपकी बहुत सी समस्याओं का हल खुद हो जाएगा ।

समुद्र सी गहराई लिए कुंभ राशि (With depth of ocean : Aquarious)

आपका प्रेमी यदि कुंभ राशि का व्यक्ति है तब आप इसके मन की गहराईयों को कभी नाप नहीं पाएंगे। यह अपनी बात को कहने में भी झिझकने वाला व्यक्ति होगा और सोचेगा कि आप बिना उसके कुछ कहें उसके मन के भावों को जान लें। यही इसकी एक बडी कमी भी होती है। यह जिस बात की अपेक्षा आपसे करते हैं यदि उसकी उपेक्षा हो जाए तब यह बहुत ही ज्यादा उदास भी हो जाते हैं।

एक ही समय में आप इनके दो रूप देख सकते हैं। एक रूप शर्मीला साथी होगा और दूसरा कलहकारी और सनकी प्रेमी। इनके दोनों रुप में कुछ खास भी होता है कि यह अपने दोनों रुपों का उपयोग सकारात्मक कार्य के लिए करते हैं। वे खुले दिल के कल्पनाशील जातक हैं।

यदि आप निष्कपट और निश्चल भाव से अपने प्रेमी के साथ जुडे हैं तभी आपके भीतर इनके लिए रुचि पैदा होगी, अन्यथा नहीं। मिलनसार होने के साथ कल्पनाशील व्यक्ति हैं। कुंभ राशि वायुतत्व राशि है। हवा जहां ले जाएगी मन के घोडे वहीं उडान भरने लगेगें। प्रेमी के सथ मौज मस्ती करना इन्हें अच्छा लगता है।

जिस तरह हवा को हम कभी भी बांधकर नहीं रख सकते हैं। उसी तरह ये भी स्वतंत्र रहना पसंद करते हैं। आपको अपने कुंभ प्रेमी की विशेषताओं पर ध्यान देना चाहिए। दुनिया में कोई भी व्यक्ति ऐसा नहीं है जिसमें कमियां ना हों। इसलिए कमियों को देखे बिना आप प्रेम संबधों को आगे बढाएं और अपनी लव लाईफ़ (Love life) का आनंद लें।

रूमानी और गूढ़ मीन राशि (Romantic and mysterious Pisces)

मीन राशि का आपका यह प्रेमी बहुत समझदार तथा स्नेहशील भी है। जलतत्व होने से परिस्थितियों के अनुरुप खुद को ढालने की क्षमता रखता है। यह बातों की परवाह नहीं करते हैं इसलिए भी यह खुद को अपने आसपास के माहौल में सरलता से ढाल लेते हैं। प्रेम संबंधों को लेकर इनका दिल रोमानी रहता है और तेजी से धड़कता भी है।

यह अपने प्रेमी को असाधारण रुप से प्यार करने वाले होते हैं और आप भाग्यशाली होगें कि आपको इनके जैसा प्रेमी मिलेगा । इनके लिए प्रेमी अमूल्य होता है और उसे उपहार देते रहना इन्हें अच्छा लगता है। आपका यह प्रेमी खुद आपको यह अहसास दिलाता रह सकता है कि आप उसके लिए कितने अधिक महत्व रखते हैं।

प्रेम संबंधों से बढकर इनके लिए कुछ नहीं होता है। आपका प्रेमी अपने हाव-भाव से आपको बता देगा कि उसे क्या अच्छा लग रहा है और क्या अच्छा नहीं लग रहा है। आपसे प्रेम का इजहार करने के लिए आपके लिए यह गाना या कविता भी लिख सकते हैं और जो उपहार आपको देगें उसका कोई अर्थ आपके जीवन में होगा तभी देगें।

आपका यह प्रेमी आध्यात्मिक बातों में भी रुचि रखने वाला होगा। इसलिए एकांतवास करना भी रुचिकर लगेगा इसलिए जब यह अकेला रहना चाहे तब आप इन्हें अकेला छोड दें। विशेषताओं के साथ आपके इस प्रेमी में कुछ कमियां भी हैं जैसे इन्हें सोना बहुत पसंद होगा । आप जितना भी जगाने का प्रयास करेगें यह नहीं जागेगें जब तक कि इनका मन नहीं होगा ।

यह उदास बहुत रहते है और वास्तविकता से बचने का प्रयास करते है। आप इनकी कमियों को दूर करने का प्रयास कर सकते है और जितना हो सकें इन्हें अकेले रहने की आदत से दूर रखना होगा ताकि यह उदास भी ना रह पाएं।

अगर आप अपने प्रेमी/प्रेयसी की कमियों और खासियत को ध्‍यान में रखेंगे तो उन्‍हें अधिक संभालकर रख पाएंगे। अगर आप उन्‍हें समझ नहीं पाते हैं तो दो प्रेमियों का संबंध भी how to tease your valentine बन सकता है।

मदनोत्‍सव के बाद होली तक का समय आपसी संबंधों को मजबूत करने का सर्वश्रेष्‍ठ समय है। सभी जातकों को हृदय से शुभकामनाएं…

लेखक – चंद्र प्रभा